fbpx

अपने बच्चे के लिए प्रीस्कूल कैसे चुने ?

एक शोध के अनुसार, प्रीस्कूल के एक गुणवत्ता कार्यक्रम में भाग लेने वाले बच्चों में कुछ साल बाद उन्हें उच्च शिक्षा में मदद मिलती है और गणित के सवाल आसानी से हल कर लेते हैं और वे हर क्षेत्र में सफलता हासिल करते हैं। हालांकि यदि आप अपने बच्चे के लिए प्रीस्कूल देख रहे है या सोच रहे है या तलाश शुरू कर दी है तो जल्द बाजी न करे, हो सकता है की आपके शोध में कुछ कमी हो, अधिकांश माता-पिता अपने बच्चे के लिए समय से पहले प्रीस्कूल की शोध और देखने की योजना शुरू कर देते हैं।

अपने बच्चे के लिए सबसे अच्छा प्रीस्कूल कैसे चुनें? तो इन बातो का ध्यान दे जो आपको सही चुनाव करने में सहायता करेंगी ! आइये आगे देखते है कुछ महत्वपूर्ण तथ्य जो आपके प्रीस्कूल चुनाव में मदद करेंगे —

प्रीस्कूल देखना कब शुरू करना चाहिए?

प्रत्येक प्रीस्कूल में एक अलग प्रवेश प्रक्रिया और समय रेखा होती है। यदि किसी स्कूल में प्रतीक्षा सूची है, तो आप अपने बच्चे को जन्म लेते ही जोड़ सकते हैं। आमतौर पर, आपको जुलाई से पहले या एक साल पहले से देखना शुरू करना हैं। क्या आपका बच्चा वास्तव में प्रीस्कूल जाना शुरू करेगा या नहीं, आमतौर पर २ साल या 4 साल  की उम्र के आसपास आपका बच्चा तैयार हो जाता हैं। कुछ माता-पिता २ साल की उम्र में अपने बच्चों को प्रीस्कूल भेजने का विकल्प चुनते हैं, शोध के अनुसार २ साल की उम्र सही होती है, जो की उसके प्रारंभिक विकास के लिए आवश्यक हैं। लेकिन कभी-कभी अगले वर्ष की प्रतीक्षा करने के बजाय आपको बच्चे को प्रीस्कूल कार्यक्रम में दाखिला दिला देना चाहिए।

अपने बच्चे को प्रीस्कूल के लिए कैसे तैयार करे —

आपका बच्चा जब पहली बार प्रीस्कूल में जाता है तो वह सबसे अनजान होता हैं। भविष्य में अपने दोस्तों के साथ तालमेल कर पाए ताकि वह अन्य बच्चों के साथ और आपसे अलग होने के साथ अधिक सहज सामाजिकता महसूस करे। बच्चा ज्यादा समय अपनी माँ के साथ होता है  अपनी माँ से वो बेहिजक सब कहता है और बात सुनता है, प्रीस्कूल में जाने से पहले आप अपने बच्चे को स्वतंत्र बनाये, बोलने में, और सही गलत समझने में, अच्छी बुरी आदत, कब कैसे बर्ताव करना है, दिन की सभी गतिविधिया अच्छे से अपने बच्चे को सिखाऐ साथ ही उसे प्रारम्भिक शिक्षा भी दे जिससे उसे चीजे समझने में आसानी होगी ।

यदि आप उसे आत्मनिर्भर होना सिखाते हैं – अर्थात्, खुद से खा ले, अपनी जैकेट और अपने बैग तैयार करना, बंद करना खोलना और निश्चिंत होकर अपनी बात कहना जब वो असहज महसूस करे तब वो अपनी बात सरलता से कह पाए ।

प्रीस्कूल (पूर्वस्कूली शिक्षाऔर डे केयर (झूलाघरके बीच अंतर क्या है?

प्रीस्कूल को औपचारिक शिक्षा माना जाता है, लेकिन यह आमतौर पर किंडरगार्टन (बालवाड़ी) से पहले एक से तीन साल की स्कूली शिक्षा को संदर्भित करता है। डे केयर आमतौर पर बच्चों को 2- 5 वर्ष की आयु तक बच्चे की देखभाल प्रदान करता है। परन्तु कुछ डे केयर 2 से 12 वर्ष तक भी यह सुविधा प्रदान करते है यदि आपका बच्चा 2 या 3 वर्ष का है और उसे प्रीस्कूल उम्र के बच्चों के साथ डे-केयर कक्षा में रखा गया हैं और उसके पास एक शिक्षक है जो एक निर्धारित पाठ्यक्रम का पालन करता है। संरचित शिक्षण गतिविधियों के साथ, वह मूल रूप से प्रीस्कूल में हैं।

तो अब आपको यह निर्धारित करना है की आप जिस प्रीस्कूल को चुने वह प्रीस्कूल प्रोग्राम (प्लेग्रुप) अलग हो और डे केयर प्रोग्राम अलग हो । क्योकि इन दोनों में शिक्षण गतिविधिया अलग अलग होती है जब बच्चे की शुरुआती विकास में बहुत अहम् भूमिका निभाती हैं|

आपका बच्चा क्या सीखेगा?

प्रीस्कूल में आपका बच्चा क्या सीखेगा ? यह सवाल हर माता पिता के मन में रहता है, यदि आपका बच्चा निश्चित रूप से प्रीस्कूल गतिविधियों में रंग भरना, चित्रकारी, कागज की कलाकृति बनाना, किताब पढना, शब्द पहचानना, और बाहरी दुनिया के बारे में जानने जैसी क्रिया करेगा और कहानी सुनने के लिए सभी बच्चो के साथ बैठेगा, उसे साझा करने, सहयोग करने, संघर्षों को हल करने और स्वतंत्र होने में भी अभ्यास करने को मिलेगा। ये सामाजिक और भावनात्मक कौशल – किंडरगार्टन (बालवाड़ी) और सामान्य रूप से जीवन के लिए उसे तैयार करने में मदद करेंगे। वास्तव में, किंडरगार्टन शिक्षकों के एक अध्ययन के अनुसार, 95 प्रतिशत ने कहा कि जिन बच्चों ने प्रीस्कूल में भाग लिया था, वे सामाजिक और शैक्षणिक रूप से बेहतर तैयार थे। स्कूल के परिणाम को देखे बिना, वे बता सकते थे कि कौन से बच्चे अपने साथियों के साथ खेलते थे, कक्षा में व्यवहार करते थे, और पढ़ने के कौशल और गणित की अवधारणाओं के साथ अच्छा प्रदर्शन करते थे।

मातापिता किस प्रकार के प्रीस्कूल चुन सकते हैं?

प्रीस्कूल कार्यक्रमों के बीच एक मुख्य अंतर यह है कि पाठ्यक्रम कैसे संरचित हैं। स्कूल इस बात में भी भिन्न हैं कि वे सामाजिक और भावनात्मक कौशल और शैक्षणिक कौशल के निर्माण पर कितना जोर देते हैं, शिक्षक छात्रों के साथ कैसे बातचीत करते हैं, और किस तरह के खिलौने और सामग्री का उपयोग किया जाता है। बच्चो की सुरक्षा और स्कूल की साफ सफाई के क्या नियम है और किस तरह से संचालित किये जा रहे हैं। अन्य कार्यक्रमों में शिक्षण या “पारंपरिक” प्रीस्कूल शामिल हैं |

अमेरिका में सबसे लोकप्रिय दृष्टिकोण, जिसे “प्ले-बेस्ड” या “डेवलपमेंटली” शिक्षण के रूप में जाना जाता है, यह मानता है कि बच्चे खेल के माध्यम से सबसे अच्छा सीखते हैं। इन कार्यक्रमों में छात्र आम तौर पर अपनी गतिविधियों को चुनते हैं और अपनी गति से सीखते हैं।

प्रीस्कूल विजिट के दौरान क्या देखना चाहिए?

प्रीस्कूल में अलग-अलग खेल गतिविधियों के लिए क्षेत्र होने चाहिए, जैसे कि एक किताबी नुक्कड़ नाटक, पहेली, अंक तालिका और एक लाइब्रेरी, क्लासरूम, रंग बिरंगे खिलोने, खाने के प्रकार, फ़ूड जोन, रेस्ट रूम, बाथरूम, और साफ सफाई । दीवारों पर चित्रकारी – कलाकृति के नमूने हैं? आपको तस्वीरें देखनी चाहिए, लेकिन उन सभी को एक ही तरह से या समान रंगों के साथ नहीं खींचा गया (जब बच्चों के लिए दर्शाई गयी चित्रकारी हो, तो यह दर्शाता है कि स्कूल रचनात्मकता को प्रोत्साहित करता है)। आपको सुरक्षा प्रक्रियाओं के बारे में भी पूछना चाहिए। अगर आपके अलावा कोई और आपके बच्चे को उठा रहा है, तो क्या स्कूल उसकी पहचान की जांच करेगा और सुनिश्चित करेगा कि वह अधिकृत देखभाल करने वालों की सूची में है या नहीं? समय नियम क्या है, बिना पूछताछ और पहचान के स्कूल प्रांगण में प्रवेश अनुचित नहीं है और भी बहुत सी बाते है जो आपको सुनिश्चित करना हैं |

एक अच्छा प्रीस्कूल कैसे मिल सकता है?

अन्य अभिभावकों से बात करें। खेल के मैदान पर मिलने वाले दोस्तों और अन्य आस पास वाले पडोसी या अपने दोस्तों से बात करें। कुछ प्रीस्कूल डेमो आमंत्रित करते हैं जहां आप विभिन्न निर्देशकों से मिल सकते हैं और एक साथ कई कार्यक्रमों के बारे में जान सकते हैं। आप आपके नजदीकी  यूसी किंडीज़ इंटरनेशनल  प्रीस्कूल पर आकर अधिक जान सकते हैं, –  संपर्क करे – 9111-6111-07 या देखे www.uckindiesmp.com